छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में अगवा किये गए जवान राकेश्वर सिंह मनहास को पांच दिन बाद नक्सलियों ने रिहा कर दिया है.

सैकड़ों ग्रामीणों के सामने सीआरपीएफ जवान को रिहा करते माओवादी.

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में अगवा किये गए जवान राकेश्वर सिंह मनहास को पांच दिन बाद नक्सलियों ने रिहा कर दिया है. जब इसकी सूचना जवान के परिजनों को ढ़ी गई तो उनकी पत्नी मीनू मनहास ने कहा, ‘मैं भगवान का, केंद्र और छत्तीसगढ़ सरकार का, मीडिया और सेना का धन्यवाद कहती हूं. आज मेरी ज़िंदगी में सबसे ज्यादा खुशी का दिन है.’

रिहा किये गए जवान की पत्नी मीनू मनहास.

बीजापुर हमले में कब्जे में लिए गए जवान के सकुशल रिहा किये जाने के बाद सेना सहित उनके परिवार के लोगों में खुशी का माहौल नज़र आ रहा है. इस बारे में जवान की माता कुंती देवी ने कहा कि हम बहुत ज्यादा खुश हैं, जिन्होंने हमारे बेटे को छोड़ा है मैं उनका भी धन्यवाद अदा करती हूं. भगवान का भी धन्यवाद करती हूं. जब सरकार की बात हो रही थी तो मुझे थोड़ा भरोसा तो था लेकिन विश्वास नहीं हो रहा था.

इस बारे में जानकारी देते हुए बीजापुर के एसपी ने कहा कि जैसे ही हमें पता चला कि हमारा एक जवान नक्सलियों के कब्जे में है तो हमने उसी वक़्त उसे छुड़ाने के प्रयास शुरू कर दिए थे. उन्होंने यह भी जानकारी दी कि जवान राकेश्वर की डॉक्टर जांच कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here