Home Health 102 एम्बुलेंस में गूंजी किलकारी, जिला महिला अस्पताल में जच्चा-बच्चा सुरक्षित भर्ती

102 एम्बुलेंस में गूंजी किलकारी, जिला महिला अस्पताल में जच्चा-बच्चा सुरक्षित भर्ती

0

ईएमटी ने अपनी सूझबूझ से एम्बुलेंस सड़क पर किनारे लगाकर बच्चे का सुरक्षित तरह से जन्म करवाया…

सीतापुर. प्रदेश में संचालित 102 एम्बुलेंस एक बार फिर नवजात बच्चे की किलकारी से गूंज उठी. बुधवार की देर रात 102 एम्बुलेंस हेल्पलाइन नंबर पर एक कॉल करके सूचना दी गई थी कि हरगांव स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से एक प्रसूता को लेकर जिला महिला चिकित्सालय ले जाना है.

एम्बुलेंस सड़क पर किनारे लगाकर बच्चे का सुरक्षित तरह से जन्म करवाया गया.

इस सम्बंध में 102 एम्बुलेंस में कार्यरत ईएमटी कुलदीप कुमार और पायलट प्रदीप कुमार ने बताया कि बुधवार की देर रात सूचना दी गई कि प्रेमवती (26 वर्ष) पत्नी छोटेलाल निवासी ग्राम कोरैया ओधनापुर ब्लॉक हरगांव को प्रसव पीड़ा होने पर 102 एम्बुलेंस की आवश्यकता है. सूचना मिलते ही वे एम्बुलेंस लेकर समय पर वे हरगांव स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए. वहां से महिला को एम्बुलेंस में बैठाकर वे जिला महिला अस्पताल की ओर जा रहे थे. इसी बीच महिला की प्रसव पीड़ा बढ़ गई. ऐसे में एम्बुलेंस सड़क पर किनारे लगाकर बच्चे का सुरक्षित तरह से जन्म करवाया गया. इसके बाद जच्चा-बच्चा को जिला महिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया. जहां डॉक्टर ने जांच के बाद बताया कि जच्चा-बच्चा दोनों ही पूरी तरह सुरक्षित हैं. वहीं, परिजनों ने सुरक्षित प्रसव कराने के लिए सरकारी एम्बुलेंस सेवा और एम्बुलेंस कर्मचारियों की सराहना की. इस दौरान आशा रिंकी देवी भी मौजूद रहीं.

एम्बुलेंस सेवा प्रदाता संस्था के रीजनल मैनेजर इंद्रजीत सिंह में बताया कि 102 सेवा पूरी तरह से निःशुल्क है और महिलाओं व दो साल तक के बच्चों को घर से अस्पताल व अस्पताल से वापस घर भी ले जाती है. आकस्मिक स्थिति के लिए एम्बुलेंस में डिलीवरी किट होती है और एम्बुलेंस स्टाफ इसके लिए प्रशिक्षित होते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here