ईमानदारी से पुलिस की नौकरी करने वाले को चुप कराकर सत्ता के करीबियों को दी ‘सौगात’

ईमानदारी से काम करने वालों की राह में कांटों की सेज होती है. ऐसा कहा और सुना जाता है. गुजरात के सूरत में एक बार फिर ऐसा ही एक वाक्या देखने को मिल रहा है.

एक महिला सिपाही ने ईमानदारी से नौकरी करते हुए राज्यमंत्री के करीबियों को मास्क न लगाने पर टोका तो उसे वरिष्ठ अधिकारी ने चुप कराकर घर बैरंग लौटा दिया. महिला सिपाही ने घटना से नाराज होकर इस्तीफा दे दिया है. अब कमिश्नर मामले की जांच करवा रहे हैं. फिलहाल, सोशल मीडिया पर मामले ने तूल पकड़ लिया है. सभी इस घटना की अपने-अपने नजरिए से समीक्षा कर रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार देर रात सूरत के वराछा इलाके में मंत्री के कुछ समर्थक सरकारी नियमों और दिशानिर्देशों का खुलेआम उल्लंघन करते दिखे. ये लोग कर्फ्यू के बावजूद बिना मास्क लगाए घूम रहे थे. इस दौरान ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी सुनीता यादव ने इन लोगों को इस तरह बाहर घूमने पर टोका. पुलिसकर्मी ने इन समर्थकों से कई सवाल पूछे, जिससे खफा इन समर्थकों ने मंत्री के बेटे को फोन कर बुला दिया.

सीनियर अफसर ने भेज दिया घर

पुलिसकर्मी ने इसके बावजूद अपने सीनियर अधिकारी को फोन कर पूरी घटना की जानकारी दी. मगर राज्यमंत्री का नाम आते ही अधिकारी ने उस पुलिसकर्मी को घर जाने का आदेश दिया और उन्हें वापस अपने घर जाना पड़ा. वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि शुक्रवार की रात राज्यमंत्री के करीबी मित्र बिना मास्क लगाए शहर की गलियों में कुलांचे मार रहे थे. चूंकि, दौर कोरोना काल का चल रहा है.

देश में काफी वायरल हो रहा है.

ऐसे में रात में वहां भी कर्फ्यू लागू है. एक लेडी कांस्टेबल सुनीता यादव ने जब उसे टोका तो वह सत्ता करीबी तैश में आ गया. मंत्री के लड़के को फोन लगाकर महिला सिपाही को सबक सिखाने की जुगत करने लगा. जब फोन पर महिला सिपाही जिरह कर रही थी तो वह पीछे से विक्ट्री साइन में खिलखिला रहा था. वह बीच की अंगुली दिखाकर खाकी को उसकी हैसियत दिखा रहा था. सुनीता मायूस होकर इस्तीफा दे देती है. राजनीति शुरू हो चुकी है. पुलिस कमिश्नर ने पूरे मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं.

इस्तीफे की सूचना पर जांच के आदेश

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के बाद सुनीता यादव ने पुलिस सेवा को छोड़ने का फैसला किया और इस्तीफा दे दिया. इस मामले के सामने आने के बाद सूरत के कमिश्नर ने जांच के आदेश दे दिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here