माफिया छोटा राजन की फाइल फोटो.

एम्स के जनसंपर्क अधिकारी बीएन आचार्य ने छोटा राजन की मौत की ख़बर से इनकार किया है. उन्होंने कहा है कि छोटा राजन का एम्स में इलाज चल रहा है और उनकी मौत नहीं हुई है. कुछ देर पहले सरकारी रेडियो ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) ने ये ट्वीट किया था कि छोटा राजन की मौत हो गई है.

राजेंद्र निकलजे यानी छोटा राजन को कोरोना संक्रमण के कारण 26 अप्रैल को एम्स में भर्ती कराया गया था. वर्ष 2015 में इंडोनेशिया में गिरफ़्तारी के बाद से उन्हें दिल्ली के तिहाड़ जेल में रखा गया है.

छोटा राजन के ख़िलाफ़ दर्ज सभी आपराधिक मामले सीबीआई को दे दिए गए थे और ये सारे मुक़दमे विशेष अदालत में चलाए जा रहे हैं. छोटा राजन के ख़िलाफ़ 70 से अधिक मामले दर्ज हैं, इनमें हत्या और फिरौती के कई मामले हैं.

बता दें कि तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने सोमवार को यहां एक सत्र अदालत को सूचित किया कि 2015 में, बाली, इंडोनेशिया से गिरफ्तारी के बाद से राजन, नई दिल्ली में उच्च सुरक्षा वाले तिहाड़ जेल में बंद है. मुंबई में उसके खिलाफ लंबित सभी आपराधिक मामले सीबीआई को स्थानांतरित कर दिए गए थे और एक विशेष अदालत का गठन किया गया था.

सोमवार को तिहाड़ जेल के एक सहायक जेलर ने टेलीफोन से सेशन कोर्ट को सूचित किया था कि वे एक मामले में सुनवाई के लिए न्यायाधीश के समक्ष वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राजन को पेश नहीं कर सकते क्योंकि गैंगस्टर ने कोविड ​​-19 मी जांच में पॉजिटिव पाया गया है और उन्हें एम्स में भर्ती कराया है. राजन मुंबई में जबरन वसूली और हत्या से संबंधित 70 आपराधिक मामलों में आरोपी है. राजन को 2011 में पत्रकार ज्योतिर्मय डे की हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया और 2018 में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी. पिछले हफ्ते, मुंबई की विशेष सीबीआई अदालत ने 1993 के मुंबई सीरियल बम ब्लास्ट केस के एक आरोपी हनीफ कडावाला की हत्या के मामले में राजन और उसके सहयोगी को बरी कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here