एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या ने बॉलीवुड में चलने वाले पारिवारिक गैंग्‍स की कलई खोलनी शुरू कर दी है.

डायरेक्टर अभिनव कश्यप ने फेसबुक पर एक लंबी-चौड़ी पोस्ट लिखते हुए सुशांत आत्महत्या मामले में विस्तृत जांच की मांग की है…

उभरते हुए सुपरस्‍टार सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या के बाद बॉलीवुड की चमक में छुपे दाग नजर आने लगे हैं. अब नेपोटिज्‍म और लॉबिंग को लेकर आवाज उठने लगी है. अनुराग कश्यप के भाई और सलमान खान की सुपरहिट फिल्म ‘दबंग’ के डायरेक्टर अभिनव कश्यप ने फेसबुक पर एक लंबी-चौड़ी पोस्ट लिखते हुए सुशांत आत्महत्या मामले में विस्तृत जांच की मांग की है.

सरकार से की व‍िस्‍तृत जांच करने की मांग…

सुशांत मामले को लेकर अनुभव ने लिखा, ‘मैं सरकार से एक विस्तृत जांच शुरू करने की अपील करता हूं. तुम्हारी आत्मा को शांति मिले सुशांत सिंह राजपूत… ओम शांति…लेकिन तुम्हारी लड़ाई जारी रहेगी…’ उन्होंने लिखा, ‘सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या ने एक बहुत बड़ी समस्या को सामने ला खड़ा किया है, जिसका सामना हममें से कई लोग कर रहे हैं. वास्तव में क्या है जो एक व्यक्ति को आत्महत्या करने के लिए मजबूर कर सकता है? मुझे डर है कि उनकी मृत्यु #metoo  आंदोलन जैसे एक बड़े से हिमखंड का बहुत छोटा सा हिस्सा है. जिसने बॉलीवुड को बहुत ज्यादा परेशान किया था.’

यशराज फ‍िल्‍म्‍स पर लगाए गंभीर आरोप…

उन्होंने YRF (यशराज फिल्म्स) की टैलेंट मैंनेजमेंट कंपनी को कटघरे में खड़ा करते हुए सुशांत की मौत मामले में उसकी भूमिका की जांच करने की मांग की. उन्होंने लिखा, ‘सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में अधिकारियों को YRF टैलेंट मैंनेजमेंट एजेंसी की भूमिका की भी जांच करना चाहिए. वे लोग करियर बनाते नहीं हैं. वे आपके करियर और जीवन को बर्बाद करते हैं.’

सोशल मीड‍िया पर ल‍िखा अपना अनुभव…

सलमान खान के पर‍िवार पर लगाया कॅर‍ियर खराब करने का संगीन आरोप. Courtesy : Google Image

‘एक दशक तक व्यक्तिगत रूप से परेशान होने के बाद मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हर टैलेंट मैनेजर और बॉलीवुड की सभी टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसियां कलाकारों के लिए मौत का जाल हैं. वे सभी मूल रूप से सफेदपोश दलाल हैं, और हर कोई इसमें शामिल है. उन सबकी एक अघोषित आचार संहिता है जिसका वे पालन करते हैं. उनका एक आसान मंत्र है, ‘हमाम में सब नंगे और जो नंगे नहीं हैं, उनको नंगा करो, क्योंकि एक भी पकड़ा गया तो सब पकड़े जाएंगे”

अभिनव कश्यप की पोस्ट पढ़ें…

ऐसे तोड़ देते हैं न्‍यूकमर्स का मनोबल…

अभिनव ने बताया कि ‘पहले टैलेंट स्काउट (कास्टिंग डायरेक्टर्स आदि) कट/कमीशन पर काम करते हुए शिकार के रूप में मुंबई से बाहर के ऐसे टैलेंट को खोजते हैं, जिनके कनेक्शन्स और संपत्ति कम हो. इसके बाद उन प्रतिभाओं को सेलेब्रिटीज से मिलवाने के नाम पर बॉलीवुड पार्टियों और रेस्टोरेंट में बुलाया जाता है. ऐसी पार्टियों में उन्हें अनदेखा किया जाता है और उनके साथ काफी बुरा सलूक होता है. इसलिए वे खुद को उपेक्षित महसूस करते हैं और उनका आत्मविश्वास टूट जाता है.’

युवा प्रत‍िभावों को चंगुल में फंसाते हैं स्‍काउट…

‘एक बार जब आत्मविश्वास टूट जाता है, तो स्काउट उन्हें बॉलीवुड के शिकारियों से बचाने के नाम पर कई सालों का कॉन्ट्रेक्ट ऑफर करते हैं. जिन्हें एकबार साइन करने के बाद तोड़ना वित्तीय रूप से बहुत नुकसानदायक रहता है. इसके बदले भारी जुर्माना लगाया जाता है. इस पर साइन कराने के लिए कई तरह के हथकंडे अपनाए जाते हैं और ये सुनिश्चित किया जाता है कि कलाकार के पास उस पर साइन करने के अलावा बहुत कम विकल्प बचें.’

दबंग एक की शूटिंग के समय की तस्‍वीर. Courtesy : Google Image

कलाकार को बना देते हैं बंधुआ मजदूूर…

‘एक बार कलाकार को साइन करने के बाद टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी उन्हें बेहद कम पैसा देते हुए बंधुआ मजदूर की तरह काम लेने लगती है. अगर वे बहादुरी दिखाकर उनके चंगुल से बचने में कामयाब भी हो जाते हैं तो बेहद व्यवस्थित रूप से उनका बहिष्कार कर दिया जाता है. फिर वो बेहतर कल की उम्मीद में किसी और एजेंसी के पास पहुंच जाते हैं, लेकिन ऐसा होता नहीं है.’

वेश्‍यावृत्‍त‍ि करने को मजबूर हो जाते हैं कलाकार…

‘वो बेहतर कल कभी नहीं आता है और दूसरी एजेंसी भी उनके साथ वैसा ही व्यवहार करती है. कुछ ही सालों में किसी भी कलाकार का आत्मविश्वास टूट जाता है, फिर या तो वो आत्महत्या कर लेता है, या फिर वेश्यावृत्ति या एस्कॉर्ट (पुरुष) सर्विस जैसे कामों से जुड़ जाता है. जिनका इस्तेमाल बॉलीवुड के अलावा कॉर्पोरेट वर्ल्ड और राजनीतिक हस्तियों के अहंकार और उनकी यौन भूख मिटाने के लिए किया जाता है.’

अरबाज खान पर लगाए गंभीर आरोप…

अभिनव कश्यप ने लिखा, ‘दबंग के 10 साल बाद ये है मेरी कहानी. वो कारण जिसकी वजह से मैं दस साल पहले दबंग-2 को बनाने से पीछे हट गया था, क्योंकि अरबाज खान ने सोहैल खान और अपने परिवार के साथ मिलकर मेरे करियर को नियंत्रित करने की कोशिश की, और इसके लिए हर हथकंडा अपनाते हुए मुझे धमकाया भी.’ उन्होंने आरोप लगाते हुए लिखा कि, ‘अरबाज खान ने श्रीअष्टविनायक फिल्म्स के प्रमुख राज मेहता को फोन करके मेरे दूसरे प्रोजेक्ट को रुकवा दिया. साइनिंग अमाउंट लौटाने के बाद मैं वायकॉम पिक्चर्स के साथ जुड़ा. लेकिन वहां भी उन्होंने यही किया और इस बार सोहैल खान ने वायकॉम के सीईओ विक्रम मल्होत्रा से बात की. मुझे 7 करोड़ का अपना साइनिंग अमाउंट भी 90 लाख ब्याज के साथ वापस करना पड़ा.’

फ‍िल्‍म स्‍टार अरबाज खान और न‍िर्देशक अभ‍िनव कश्‍यप हुए आमने-सामने.

मगर र‍िलायंस के आगे उनकी एक न चली…

‘इसके बाद रिलायंस एंटरटेनमेंट ने मुझे बचा लिया और हमने अपनी फिल्म ‘बेशरम’ के लिए साझेदारी की. लेकिन यहां भी सलमान और उनके परिवार ने फिल्म को रुकवाने की पूरी कोशिश की, लेकिन जब वे ऐसा नहीं कर सके तो फिल्म के बारे में भरपूर नकारात्मक प्रचार अभियान चलवाया, ताकि वो फ्लॉप हो जाए. तमाम कोशिशों के बाद भी फिल्म रिलीज हुई और 58 करोड़ रुपए कमाए. इसके बाद उन्होंने फिल्म के सैटेलाइट राइट्स न बिकने देने के लिए अड़ंगा डाला. लेकिन रिलायंस की वजह से वहां भी उनकी नहीं चली.’

परिवार के सदस्यों को रेप करने की धमकियां दी गईं…

उन्होंने लिखा, ‘अगले कुछ सालों में मेरे सभी प्रोजेक्ट्स को रुकवा दिया गया और मुझे लगातार जान से मारने की और परिवार के सदस्यों को रेप करने की धमकियां दी गईं. इसकी वजह से मेरा मानसिक स्वास्थ्य बुरी तरह प्रभावित हुआ और मेरा तलाक तक हो गया. इसके बाद साल 2017 में जब मैंने पुलिस में शिकायत दर्ज करने की कोशिश तो उन्होंने रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया. मेरी शिकायत पर अब भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है और मेरे पास अब भी सारे सबूत हैं.’

सलीम, सलमान, सोहैल और अरबाज खान को बताया दुश्‍मन…

उन्होंने लिखा, ‘बीते 10 सालें में, मैं जान चुका हूं कि मेरे दुश्मन कौन हैं. वे सलीम खान, सलमान खान, अरबाज खान और सोहैल खान हैं. यहां कई अन्य छोटी मछलियां भी हैं, लेकिन सलमान खान का परिवार जहरीले सांप का सिर है. किसी को भी डराने के लिए वे अवैध धन, राजनीतिक रसूख और अंडरवर्ल्ड कनेक्शन के मिश्रण का इस्तेमाल बेहद चतुराई के साथ करते हैं.’ आखिरी में उन्होंने इस मैसेज को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करने और इसे फॉरवर्ड करने की अपील भी की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here