मैं ये मानकर चल रही हूं कि आज के बाद किसी भी तरह की हिंसक घटना हुई तो हम कड़ी कार्रवाई भी करेंगे. किसी भी व्यक्ति को क्षमा नहीं किया जाएगा.

ममता बनर्जी ने बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. वह तीसरी बार इस पद पर काबिज हुई हैं. हालांकि, उन्होंने शपथ लेने के बाद ही राज्यपाल जगदीप धनखड़ की बातों का जवाब देते हुये चुनाव परिणामों के बाद हुई हिंसा के लिये चुनाव आयोग को जिम्मेदार ठहरा देती हैं.

बंगाल में शांति थी और रहेगी : ममता

ममता ने शपथ लेने के बाद अपने भाषण में कहा, ‘हमारी प्राथमिकता कोविड के खिलाफ जंग लड़ना है. पहली मीटिंग मेरी कोविड को लेकर ही है. आज ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करके हम ये बताएंगे कि कोविड के लिए राज्य क्या-क्या कर रहा है. मेरी सभी राजनीतिक दलों से अपील है कि शांति बनाए रखिए. बंगाल में किसी तरह की हिंसा की घटना नहीं होनी चाहिए. मैं ये मानकर चल रही हूं कि आज के बाद किसी भी तरह की हिंसक घटना हुई तो हम कड़ी कार्रवाई भी करेंगे. किसी भी व्यक्ति को क्षमा नहीं किया जाएगा. मैं शांति के पक्ष में हूं. बंगाल में शांति थी, है और रहेगी.’

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कानून-व्यवस्था पर उठाये सवाल

इस अवसर पर राज्यपाल जगदीप धनखड़़ कहते हैं, ‘मैं आशा करता हूं कि ममता बनर्जी बंगाल में संविधान और कानून व्यवस्था के अनुसार शासन करेंगी. उम्मीद है कि ममता संविधान का मान रखते हुए ही काम करेंगी. बंगाल और देश इस वक्त जिस स्थिति में है और लोग परेशान हैं. इन हालात में हमारी प्राथमिकता इस निरर्थक हिंसा को बंद करना है. ये समाज पर बड़े पैमाने पर प्रभाव डाल रही है. चुनावों के बाद हिंसा अगर बदला लेने के लिए है, तो ये संविधान के खिलाफ है. मुझे पूरी उम्मीद है कि मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था स्थापित करने के लिए तत्काल कदम उठाएंगी.’

वे आगे कहते हैं, जिन लोगों को नुकसान पहुंचा है, खासतौर पर बच्चों और महिलाओं को, उन्हें प्राथमिकता देते हुए राहत पहुंचाई जाएगी. लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बनना साधारण बात नहीं है. मुझे उम्मीद है कि मुख्यमंत्री और मेरी छोटी बहन इन हालात में खड़ी होंगी और चुनौतियों से निपटेंगी. इतिहास में कई ऐसे मौके आए हैं, जब हमें पार्टी और हितों से ऊपर उठना पड़ता है. मैं आपको और आपकी टीम को शुभकामनाएं देता हूं. उम्मीद करता हूं कि आप ऐसी व्यवस्था बनाएंगी, जिसमें राज्य खुशहाली और विकास के रास्ते पर बढ़ेगा.’

ममता ने अगले ही पल चुनाव आयोग को ठहराया जिम्मेदार

राज्यपाल ने अपनी बात पूरी ही की थी कि ममता ने दोबारा माइक थामते हुये कहा, ‘पिछले कुछ दिनों से बंगाल की व्यवस्था चुनाव आयोग के हाथ में थी. कानून-व्यवस्था चुनाव आयोग के हाथ में थी. मुझे हिंसा के संबंध में खबरें मिली हैं. पिछले कुछ दिनों में जो घटनाएं हुई हैं, उसका जिम्मेदार चुनाव आयोग है. हम भरोसा दिलाते हैं कि हम नई व्यवस्था बनाएंगे और बंगाल में किसी भी तरह की हिंसा की घटना नहीं होगी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here