इस दौरान फल, सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी…

लखनऊ नगर निगम क्षेत्र में लगाया गया रात्रिकालीन कर्फ्यू. 8 अप्रैल रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक प्रत्येक दिन रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू रहेगा. वहीं, 16 अप्रैल की सुबह से 6 बजे तक रहेगा कर्फ्यू.

दिन में सुबह 6 बजे से शाम 9 बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ काम चलता रहेगा. इस बीच आवश्यक वस्तु को लाने ले जाने की छूट होगी. रात्रिकालीन कर्फ्यू सिर्फ लखनऊ नगर निगम क्षेत्र में लागू होगा. ग्रामीण लखनऊ में नहीं लागू होगा रात्रिकालीन कर्फ्यू. इस दौरान फल, सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी. वहीं, रात्रिकालीन शिफ्ट के सरकारी एवं अर्ध सरकारी कार्मिक एवं आवश्यक वस्तुओं व सेवा देने वाले निजी क्षेत्र के कार्मिकों को आवागमन की छूट होगी.

उधर, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन व एयरपोर्ट पर आने-जाने वाले लोग अपना टिकट दिखाकर आ जा सकेंगे. वहीं, लखनऊ के डीएम ने यह भी जानकारी दी है कि इस दौरान हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध लागू नहीं किया गया है.

मुख्यमंत्री ने उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 की स्थिति जानी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर तथा मुरादाबाद के जिलाधिकारियों से कोविड-19 के उपचार के सम्बन्ध में की जा रही कार्यवाही की जानकारी प्राप्त तथा आवश्यक निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जिन जनपदों में कोविड-19 के प्रतिदिन 100 से अधिक मामले आ रहे हैं अथवा 500 से ज्यादा एक्टिव केस हैं. उन जनपदों के जिलाधिकारी माध्यमिक विद्यालयों में अवकाश के सम्बन्ध में (परीक्षाओं को छोड़कर) स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लें.

रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर हो गहन जांच

कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण के लिए रेलवे स्टेशन तथा बस अड्डों पर लोगों की जांच करने के आदेश दिए गए हैं. टेस्टिंग कार्य को तेज करते हुए कोविड चिकित्सालय में पर्याप्त संख्या में बेड्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने के आदेश हैं.

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री तथा स्वास्थ्य मंत्री से जनपदों का भ्रमण कर चिकित्सा व्यवस्था की मौके पर समीक्षा करने की अपेक्षा की है. वहीं, अपर मुख्य सचिव गृह तथा पुलिस महानिदेशक को बुधवार रात्रि में ही
जनपद स्तरीय पुलिस अधिकारियों के साथ संवाद करते हुए मास्क की अनिवार्यता के सम्बन्ध में जरूरी दिशा-निर्देश प्रदान करने को कहा है.

50 प्रतिशत एम्बुलेंस कोविड मरीजों तथा शेष 50 प्रतिशत

सीएम ने एम्बुलेंस नाॅन-कोविड मरीजों के लिए आरक्षित करने के आदेश दिए हैं. मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 50 प्रतिशत एम्बुलेंस कोविड मरीजों तथा शेष 50 प्रतिशत एम्बुलेंस नाॅन-कोविड मरीजों के लिए आरक्षित की जाएं. यह व्यवस्था सभी मेडिकल काॅलेजों, चिकित्सा संस्थानों, सरकारी एवं निजी अस्पतालों में लागू करायी जाए. एम्बुलेंस सेवाओं के संचालन से जुड़े चालकों एवं चिकित्सा कर्मियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए जाएं.

इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को पूरी सक्रियता से कार्यशील रखने के आदेश दिए गए हैं. वहीं, कोविड अस्पतालों में बेड, एम्बुलेंस संचालन, निगरानी समितियों की कार्यवाही आदि को इण्टीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से जोड़ने के आदेश दिए गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here