शिवानी तोमर ने कम समय में ही बुलंदी छू ली है.

पवित्र रिश्ता, इस प्यार को क्या नाम दूं, कसम तेरे प्यार की जैसे कई सुपरहिट शो कर चुकीं शिवानी तोमर अब नए शो अग्नि वायु में लीड रोल में नजर आएंगी…

पवित्र रिश्ता, इस प्यार को क्या नाम दूं, कसम तेरे प्यार की जैसे कई सुपरहिट शो कर चुकीं शिवानी तोमर अब नए शो अग्नि वायु में लीड रोल में नजर आएंगी. अलग-अलग तरह के किरदार निभाने वाली शिवानी तोमर अपने शो के प्रमोशन के लिए बीते दिनों राजधानी आईं, जहां उन्होंने अपने किरदार के अनुभव साझा किए. वहीं, लॉकडाउन में बिताये पलों के बारे में भी खुलकर बातें कीं…

कलाकारों को देखकर मैंने एक्टिंग सीखी

उन्‍होंने बताया कि जब पहला रोल मिला तो उस वक्त मुझे एक्टिंग का ए भी नहीं आता था. सिर्फ डायलॉग बोलने आते थे. लाइटिंग तक नहीं पता थी कि क्या होती है. उस वक्त सेट पर आने वाले सीनियर ऐक्टरों ने बहुत हेल्प की. ऐसे ही धीरे-धीरे अपने सहयोगी कलाकारों को देखकर उनके एक्सप्रेशंस देखकर मैंने एक्टिंग सीखी. मैं अच्छी ऑब्जर्वर हूं. अक्सर लोग पूछते हैं कि थिएटर किया है या नहीं तो उसपर मेरा जवाब यही होता है कि थिएटर की जगह अपनी है और स्क्रीन की अपनी. दोनों को मिक्स नहीं किया जा सकता.

…तो ऐसे ऑडिशन दे दिया और मुझे रोल मिल गया

उन्‍होंने बताया कि इसमें मेरा किरदार प्यार और विश्वास से भरा है, जिसमें मैं वायु से प्रेम करती हूं लेकिन उसको विश्वास नहीं है. इस शो की खास बात यह है कि इसमें गलत दोनों में से कोई नहीं है बल्कि हालात ऐसे हैं कि जहां से दोनों लोग अपने नजरिए से सही हैं. इडस्ट्री में आने का जहां तक सवाल है तो मेरा कुछ भी डिसाइड नहीं था. स्कूल में सब लड़के-लड़कियां कहते थे कि उनको डॉक्टर, इंजीनियर, पायलट बनना है लेकिन मैं उस वक्त भी नहीं बता पाती थी कि मुझे क्या बनना है. मैं बस वर्तमान में जीना जानती हूं. मेरे अंदर सबकुछ करने का जज्बा था तो ऐसे ही ऑडिशन दे दिया और पवित्र रिश्ता में मुझे रोल मिल गया.

लॉकडाउन में खुद को जानने का समय मिला

उन्‍होंने बताया कि मैं हमेशा लोगों के बीच में रही. दिल्ली में घर पर परिवार के साथ या फिर बाहर रही तो फ्रेंड सर्कल में लेकिन लॉकडाउन में ऐसा समय आया कि मुझे अकेले रहना पड़ा. उस दौरान मैंने खुद को जानने की कोशिश. अपने को पढ़ा और समझा. खुद को एक्सप्लोर किया. इसके अलावा, पेंटिंग की. कभी ग्लास पेंट कर दिए तो कभी गमले. कई वेब सीरीज देखीं और खास बात यह कि मेरी मां भी वेब सीरीज देखने लगी हैं. मैंने लॉकडाउन से पहले ‘एक-एक’ कॉमिडी वेब सीरीज की थी, जो अभी तक रिलीज नहीं हुई है. अभी कई और प्रॉजेक्ट हैं, जिस पर प्‍लानिंग कर रही हूं.

अब मुझे खुद पर भरोसा हो गया है

उन्‍होंने बताया कि मुझे इंडस्ट्री में नौ साल हो गए. आज जब पीछे मुड़कर देखती हूं तो लगता है कि कल की ही तो बात है. पता ही नहीं चला कि कब कैसे यह वक्त गुजर गया. मैंने शुरू से लेकर अब तक काफी संघर्ष किया है. पहले छोटे-मोटे रोल या फिर साइड रोल करती थी लेकिन पॉजिटिविटी कम नहीं हुई हमेशा सोचती थी कि आज नहीं तो कल मुझे भी मौका मिलेगा और करीब छह साल बाद मुझे लीड रोल मिला. इस दौरान मैंने बहुत संघर्ष किया. कई अच्छे शोज मिले लेकिन कई बार कुछ प्रॉब्लम के चलते बंद हो गए. मैं सीखती गई और अब मुझे खुद पर भरोसा हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here