Courtesy : Google Image

सोमवार की देर रात लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना से हुई इस मुठभेड़ में देश के तीन जवानों की हत्‍या हो गई.

भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवानों की हत्‍या होने के बाद से चीन से सटे लद्दाख सीमा के पास तनाव गहरा गया है. सोमवार की देर रात लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना से हुई इस मुठभेड़ में देश के तीन जवानों की हत्‍या हो गई. इसके बाद से ही दोनों पक्षों वरिष्‍ठ सैन्‍य अधिकारी पूरे मामले की जांच कर रहे हैं और वार्ता का दौर जारी है.

आर्मी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, इन जवानों की हत्‍या भारतीय क्षेत्र किसी हथियार से नहीं बल्कि हाथापाई की लड़ाई में हुई है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया, ‘सोमवार की देर रात गलवान घाटी में गश्‍त के दौरान हिंसक झड़प के चलते यह घटना घटी है. इस बीच भारत के तीन जवानों की मौत हो गई, जिनमें से एक अफसर है. अब दोनों तरफ के वरिष्‍ठ अधिकारी इस पूरे मामले को शांत करने के लिए बातचीत कर रहे हैं.’ करीब 45 साल के बाद चीन और भारत की सेना के बीच हिंसक झड़प हुई है. इससे पहले वर्ष 1975 में दोनों देशों के बीच ऐसी खूनी झड़प हुई है. मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक इस हिंसक झड़प में दोनों ओर के जवानों की जान गई है. रक्षा मंत्रालय इस मामले में पल-पल की ख़बर पर नजर बनाए हुए है. इस बारे में ग्‍लोबल टाइम्‍स के संपादक ने ट्वीट करके जानकारी दी गई है कि इस संघर्ष में चीन के पांच जवानों की मौत भी हुई है. वहीं, 11 चीनी जवान घायल हो गए हैं.

लद्दाख सीमा (LAC) के पास कई क्षेत्रों में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच तनाव

वहीं, समाचार एजेंसी एजेंस फ्रांस प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन की ओर से हमले की पहल की गई थी. खबर में चीन को ही भारतीय सीमा में घुसपैठ करने का दोषी बनाया गया है. वहीं, चीन के विदेश मंत्री के हवाले से रायटर्स ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि भारत से कहा गया है कि वह एकतरफा कार्रवाई न करे. इस बारे में जानकारी मिलते ही रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीडियो कांफ्रेंसिंग करके मंत्रणा की. करीब दस मिनट चली इस बैठक में राजनाथ ने पीएम मोदी को इस संबंध में सारी जानकारी मुहैया कराई है.

उत्तरी सिक्किम के ना कुला सेक्टर में भारत और चीन के सैनिक भिड़े, दोनों ओर के सैनिक घायल

बता दें कि बीते करीब एक सप्‍ताह से भारत और चीन के सैनिक पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग सो, गलवान घाटी, डेमचॉक और दौलत बेग क्षेत्र में तैनात हैं. वहां लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) को लेकर विवाद गहराया हुआ है. इसी क्रम में करीब एक सप्‍ताह बाद गश्‍त के दौरान दोनों तरफ के जवान आमने-सामने आ गए. पैंगोंग झील के तट के करीब की जमीन को लेकर विवाद गहराया हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here