भारत में तेजी से क‍िया जा रहा है वैक्‍सीनेशन. Courtesy : Google Image

8 से 23 अप्रैल तक चलेगा अभियान, बैंक व प्राइवेट कर्मचारी, व्यापारी, ड्राइवर के लिए विशेष दिन निर्धारित…

भारत के सबसे बड़ी आबादी वाले राज्‍य प्रदेश में कोरोना संक्रमण का ग्राफ एक बार फिर बढ़ने पर सरकार ने फोकस टेस्टिंग की तर्ज पर फोकस वैक्सीनेशन कराने का फैसला किया है. इस अभियान की शुरुआत 8 अप्रैल से होगी और 23 अप्रैल तक यह अभियान चलेगा.

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शनिवार को बताया कि कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान को गति प्रदान के उद्देश्य से कुछ समूह बनाते हुए इनके लिए विशेष तिथियां निर्धारित की गई हैं. हालांकि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग वर्तमान में कभी भी सुविधानुसार टीका लगवा सकते हैं लेकिन समूह के मुताबिक निर्धारित तिथि में उनके लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी. इस सम्बन्ध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश भेजे जा रहे हैं.

10 अप्रैल को बैंक और इंश्योरेंस कम्पनी के कर्मी

उन्होंने बताया कि 8 व 9 अप्रैल को 45 वर्ष से अधिक उम्र के मीडियाकर्मी, विभिन्न प्रतिष्ठानों के संचालक, दुकानदार, व्यवसायी अपने नजदीकी वैक्‍सीनेशन केन्‍द्रों पर वैक्‍सीनेशन करवा सकते हैं. इसी तरह 10 अप्रैल को बैंक और इंश्योरेंस कम्पनी के अधिकारियों—कर्मचारियों को वैक्‍सीनेशन में प्राथमिकता दी जाएगी. इसमें उनकी एसोसिएशन, यूनियन आदि से वैक्‍सीनेशन कराने की अपील की जाएगी.

15 और 16 अप्रैल को ऑटो रिक्शा चालक

अमित मोहन ने बताया कि 12, 13 व 14 अप्रैल को स्कूल और कॉलेजों के 45 वर्ष से अधिक उम्र के शिक्षकों को विशेष मौका दिया जाएगा. 15 और 16 अप्रैल को ऑटो रिक्शा चालक, रिक्शा चालक, रेहड़ी पटरी दुकानदारों को वैक्‍सीनेशन में प्राथमिकता दी जाएगी.

22 और 23 अप्रैल को निजी प्रतिष्ठान व निजी कार्यालयों के लोगों की बारी

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि 17 और 19 अप्रैल को जितने भी सरकारी कार्यालय हैं, उनके ऐसे अधिकारियों—कर्मचारियों को खास मौका दिया जाएगा, जिन्होंने अभी तक अपना वैक्‍सीनेशन नहीं कराया है. 20 और 21 अप्रैल को अधिवक्ताओं, ज्यूडिशरी के अधिकारियों—कर्मचारियों के लिए भी वैक्‍सीनेशन की विशेष व्यवस्था रहेगी. 22 और 23 अप्रैल को निजी प्रतिष्ठान, निजी कार्यालयों के लोगों को वैक्‍सीनेशन करवाने का विशेष मौका दिया जाएगा.

यूपी में 3290 और लखनऊ में 1041 नए केस, 14 की मौत

देश के साथ ही उत्‍तर प्रदेश में भी कोरोना की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है. शनिवार 3 अप्रैल को उत्‍तर प्रदेश में 3290 नए मामले दर्ज किए गए वहीं राजधानी लखनऊ में 1041 नए मामले सामने आए हैं. उत्‍तर प्रदेश में बढ़ते मामलों के कारण स्थिति फिर से चिंताजनक हो रही है. लखनऊ के बाद सबसे अधिक प्रयागराज में 299, वाराणसी में 266 और कानपुर नगर में 171 नए मामले दर्ज हुए हैं. प्रदेश सरकार की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार विगत 24 घंटों में 14 मरीजों की कोरोना के कारण मौत हो गई. इसमें भी सबसे अधिक 6 केस लखनऊ के हैं. जबकि दो मामले शाहजहांपुर और एक एक केस आगरा, बलिया, रायबरेली, वाराणसी, उन्‍नाव और भदोही के हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here