Home CORONA Updates कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में UP अव्वल, 41 जिलों में नहीं मिले...

कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में UP अव्वल, 41 जिलों में नहीं मिले कोरोना के नये मरीज

0

कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-09 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देश…

लखनऊ. देश में कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में उत्तर प्रदेश  शीर्ष स्थान पर काबिज हो गया है. अब तक 6 करोड़ एक लाख एक  हजार 58 कोविड सैंपल की जांच की जा चुकी है. यह किसी एक राज्य द्वारा की गई सर्वाधिक टेस्टिंग है. यह जानकारी कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दी गई है.

इसी प्रकार देश में 3 करोड़ 60 लाख 81 हजार 758 वैक्सीन डोज देकर उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर है. प्रदेश में 3 करोड़ 5 लाख 47 लाख 365 लोगों ने कोविड की पहली डोज प्राप्त कर ली है. बैठक में यह भी बात उठी कि बीते दिनों केजीएमयू लखनऊ में 109 सैम्पल की जीनोम सिक्वेंसिंग कराई गई थी. प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक 107 सैंपल में कोविड की दूसरी लहर वाले पुराने डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि ही हुई है, जबकि 2 सैम्पल में कप्पा वैरिएंट पाए गए. दोनों ही वैरिएंट प्रदेश के लिए नए नहीं हैं. वर्तमान दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.04 प्रतिशत है. त्वरित और गहन ट्रेसिंग से संक्रमण का प्रसार भी न्यूनतम है. कोरोना वायरस के गहन अध्ययन-परीक्षण के लिए प्रदेश में जीनोम सिक्वेंसिंग की सुविधा को लगातार बढ़ाया जाए. प्रदेश में इस सुविधा से लैस केंद्र की स्थापना से लाभ होगा.

वहीं, यूपी में कोरोना महामारी की दूसरी लहर की स्थिति नियंत्रण में बताई गई है. विगत 24 घंटे में 2,52,568 कोविड सैम्पल की जांच की गई और पॉजिटिविटी दर 0.04 प्रतिशत से कम दर्ज की गई है. 41 जिलों में एक भी नया केस नहीं पाया गया है जबकि 32 जिलों में इकाई अंकों में नए संक्रमित मरीज पाए गए हैं. इसी अवधि में, प्रदेश में 90 नए मरीजों की पुष्टि हुई है, जबकि 162 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं. 30 अप्रैल के बाद से एक्टिव केस में लगातार गिरावट हो रही है और वर्तमान में 1,697 एक्टिव केस हैं. प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर और बेहतर होकर 98.6 फीसदी हो गई है. अब तक 16 लाख 82 हजार 741 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं. जबकि 1,334 लोग होम आइसोलेशन में हैं. विगत 24 घंटों में 7 लाख 83 हजार 588 प्रदेशवासियों ने टीका-कवर प्राप्त किया.

कोविड से अकाल मरने वालों के आश्रितों के लिये…

कोविड-19 महामारी के कारण  जिन लोगों का असामयिक निधन हुआ है, उन भूमिधरों की वरासत, उनके विधिक उत्तराधिकारियों के पक्ष में खतौनी में दर्ज करने के  लिए “विशेष वरासत अभियान” संचालित किया जा रहा है. 18 जुलाई तक के लिए प्रस्तावित इस महत्वपूर्ण अभियान का लाभ सभी जरूरतमंदों को दिलाया जाए. खतौनी की नकल राजस्व विभाग के स्थानीय अधिकारियों द्वारा उत्तराधिकारी के आवास पर जाकर ससम्मान हस्तगत किया जाए. कोरोना के कारण निराश्रित हुईं महिलाओं की आजीविका के लिए समुचित प्रबंध किया जाए.मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की तर्ज पर महिला एवं बाल विकास विभाग ऐसी महिलाओं के संबंध में भी विस्तृत कार्ययोजना शीघ्र प्रस्तुत की जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here